Laga darbaar bhawani sherawali ka–Mata Bhajan Lyrics In Hindi.

लगा दरबार भवानी शेरावाली का

शेरावाली मां ने बहुत प्यारा सा दरबार लगाया है और  इस दरबार की शोभा का वर्णन किस तरह से किया गया है आइए सुनते हैं।

भजन लिरिक्स–


लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगे दरबार में ब्रह्मा चले आए,
लगे दरबार में ब्रह्मा चले आए,
ब्रह्मा चले आए संग ब्राह्मणी को लाए,
ब्रह्मा चले आए संग ब्राह्मणी को लाए,
हाथों में वेद रचाते चले आए,
हाथों में वेद रचाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।
लगे दरबार में विष्णु चले आए,
लगे दरबार में विष्णु चले आए,
विष्णु चले आए संग लक्ष्मी को लाए,
विष्णु चले आए संग लक्ष्मी को लाए,
हाथों में चक्र नचाते चले आए,
हाथों में चक्र नचाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।


लगे दरबार में भोले चले आए,
लगे दरबार में भोले चले आए,
भोले चले आए संग गौरा जी को लाए,
भोले चले आए संग गौरा जी को लाए,
हाथों में डमरू बजाते चले आए,
हाथों में डमरू बजाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।

लगे दरबार में राम चले आए,
लगे दरबार में राम चले आए,
राम चले आए संग सीता जी को लाए,
राम चले आए संग सीता जी को लाए,
हाथों से धनुष छुड़ाते चले आए,
हाथों से धनुष छुड़ाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।

लगे दरबार में कृष्ण चले आए,
लगे दरबार में कृष्ण चले आए,
कृष्ण चले आए संग राधा जी को लाए,
कृष्ण चले आए संग राधा जी को लाए,
होंठों से बंसी बजाते चले आए,
होंठों से बंसी बजाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।

लगे दरबार में भक्त चले आए,
लगे दरबार में भक्त चले आए,
भक्त चले आए संग संतो को लाए,
भक्त चले आए संग संतो को लाए,
ढ़ोल मंजीरा बजाते चले आए,
ढ़ोल मंजीरा बजाते चले आए,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का,
लगा दरबार भवानी शेरावाली का।।

Follow our other website kathakahani

You may also like...

Leave a Reply